भाजपा की चाल थी, किसानों को उग्र करके आंदोलन को बदनाम किया जाए : शिवसेना


 शिवसेना ने गणतंत्र दिवस के मौके पर देश की राजधानी दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा।


 शिवसेना ने केंद्र कि मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार चाहती थी कि किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान आक्रोशित होकर हिंसक हो जाए, जिससे कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे किसान आंदोलन को बदनाम कर प्रदर्शन ख़तम करवाया जा सके। 

 

 ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 2 महीने से किसान शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे है। प्रदर्शनकारी दिल्ली की सीमाओं पर डटकर कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे किसानो ने शांति व्यवस्था बनाए रखी और अपना धैर्य नहीं खोया। 


 गौरतलब है कि लालकिले पर हुई हिंसा में शामिल कई लोगो के बीजेपी के कई नेताओं के साथ संबंध जगजाहिर हो चुके हैं, वही हिंसा में शामिल होने के आरोपी दीप सिंधु कि प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और सांसद तक पहुंच बताई जा रही हैं।

Post a Comment

0 Comments