किसानों के समर्थन में उतरीं ग्रेटा थनबर्ग तो विशाल बोले- देश का मीडिया बिका हुआ है, विदेश में ही चर्चा हो

 

मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर करीब 70 दिनों से कड़ाके की ठंड में आंदोलन पर बैठे हैं।

इस दौरान तकरीबन 150 किसानों की मौत हो चुकी है। लेकिन इसके बावजूद सरकार किसानों की मांगे मानने को तैयार नहीं हुई है।

किसानों की आवाज़ दिल्ली तक न पहुंच सके इसके लिए भी सरकार की ओर से लगातार इंतेज़ाम किए जा रहे हैं।

सरकार की ओर से दिल्ली बॉर्डर पर कटीले तारों और नुकीली कीलों की बैरिकेडिंग की गई है। लेकिन सरकार की इन तमाम कोशिशों के बाद भी किसानों की आवाज़ दुनियाभर में गूंज रही है।

किसानों के समर्थन में अब ग्लोबल सेलिब्रिटीज ने अपनी आवाज़ बुलंद की है। पॉप स्टार रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग समेत कई इंटरनेशनल सेलिब्रिटीज ने किसानों के समर्थन में ट्वीट किए हैं।

रिहाना ने अपने ट्विटर पर किसान आंदोलन से जुड़ी खबर शेयर करते हुए लिखा कि हम इस बारे में बात क्यों नहीं कर रहे?

वहीं, पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने कहा है कि हम भारत में किसानों के प्रदर्शन में एकजुटता से खड़े हैं।

हैरानी की बात तो ये है कि ग्लोबल सेलिब्रिटीज ने किसानों के समर्थन में तब आवाज़ उठाई है जब भारतीय मीडिया उन्हें सिर्फ बदनाम करने में लगा है। भारतीय मीडिया में कहीं भी किसानों की तकलीफ़ का कोई ज़िक्र नहीं हो रहा।

ऐसे में इन ग्लोबल सेलिब्रिटीज द्वारा किसानों के हक़ में आवाज़ उठाए जाने की सोशल मीडिया पर तारीफ़ हो रही है।

बॉलीवुड सिंगर विशाल ददलानी ने इसपर टिप्पणी करते हुए लिखा, “शुक्रिया ग्रेटा थनबर्ग… यह कहने का दुख है, लेकिन चूंकि भारत के 99 फीसदी मीडिया ने अपनी नैतिकता और रीढ़ को पूरी तरह से छोड़ दिया है,

इसलिए ग्लोबल मीडिया का ध्यान उस तरीके से इधर लाना होगा, जिस शर्मनाक तरीके से भारतीय किसानों का हिंसक दमन किया जा रहा है और उनकी आवाज़ को दबाया जा रहा है”।



Post a Comment

0 Comments