चमोली में ग्लेशियर फटने से ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट को नुकसान, अलखनंदा नदी का जलस्तर अब सामान्य

 

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से नदी में धोलीगंगा नदी में उफान आ गया। नदी के कई तटबंध टूटने से बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है। इससे ऋषिगंगा प्रोजेक्ट को नुकसान पहुंचा है। उतराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत घटना स्थल के लिए रवाना भी हो गए। त्रिवेंद्र ने ट्वीट किया कि अचानक हुई इस घटना से भागीरथी नदी का फ्लो रोक दिया गया है। साथ ही अलकनंदा के पानी का बहाव रोका जा सके, उसके लिए श्रीनगर डैम और ऋषिकेष डैम को खाली करवा दिया गया है। एसडीआरएफ अलर्ट पर है। समाचार एजेंसी एएनआई ने आईटीबीपी के हवाले से बताया कि उत्तराखंड के चमोली जिले के रेली गांव के पास विशाल बाढ़ को देखा गया है जिसने नदी के कई तट और घरों को तोड़ डाला है।


उत्तराखंड में अबतक क्या हुआ
itbp, sdrf और ndrf कई टीमें घटना स्थल पर पहुंच चुकी हैं। रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से फोन पर बात की।

 
उत्तराखंड पुलिस के मुताबिक, श्री नगर, ऋषिकेश और हरिद्वार में पानी का स्तर खतरे के निशान से ऊपर जा सकता है।

 
ndrf की कुछ टीमें देहरादून से जोशीमठ भेजी गई हैं। दिल्ली से एयरलिफ्ट करके कुछ टीमें देहरादून भेजी जाएंगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वो लगातार उत्तराखंड के हालात पर नजर रखे हुए हैं। साथ ही ndrf के आला अधिकारियों से भी बात कर रहे हैं।
खबर लगातार अपडेट हो रही है

Post a Comment

0 Comments